शुक्रवार, 29 जून 2012

कुछ शब्द और वाक्य



आज आपके साथ कुछ शब्द और वाक्य प्रस्तुत कर रहे है जो दैनिक जीवन और आमतौर पर प्रयोग करते है। [इस रूप मे पढे ]

english
हिन्दी
गढ़वाली
कुमाऊँनी

speak: speak something
बोलो: कुछ तो बोलो
ब्वाला /बोला: कुच्छ त ब्वाला।
बुलाव / बुआल: क्यै त बुलाव

Listen: Pls listen to me.
सुनो : कृपया मुझे सुनिये।
सूणा: मेर बी सूण ल्यावा।
सूणी: मैँस ले सूणी / सुणया

walk: let's walk
चलो: चलो चलेँ
हिटा: चला हिटी ल्यूला/ल्यावा
हिटा: हिटो हिटनू

down: get down
नीचे: तुम नीचे उतरो।
भियाँ: भ्वीं /भियाँ उतरा।
तली: तली/ तल्नी उतरऽ

move fast : don't stand, move fast
जल्दी चलो: खड़े मत रहो जल्दी चलो।
सरासर चला[हिटा] : खड़ नी ह्वाआ सरासर चला [हिटा]
सरासर हिटो: ठाऽड़ झन रौ सरासर हिटो

blessings: with your blessings
कृपा: आपकी कृपा के साथ
किरपा: आपक किरपा क दगड़ी [आपेकी किरपा च]।
किरपा: आपुक किरपाक दगाड़।

thanks: thanks for being here.
शुक्रिया: आपका यहाँ आने का शुक्रिया।
धनेबाद: आपक इख आणा कू धनेबाद ।
धनेबाद: आपुक इखम आणक धनेबाद।

know: I don't know.
जानता: मैं नही जानता।
जणदू: मी नी जणदू [ मीते नी पता]
जाणू: मि नि जाणू / जाणनू

nice: it's nice
अच्छा : अच्छा है।
अच्छू : अच्छू च
भल्ल: भल्ल छ।

excuse: excuse me.
क्षमा: मुझे क्षमा करे।
माफ : मीते माफ करयान/करेन।
माफ: मेसें माफ करी

sit: sit here
बैठ: यहाँ बैठिए।
बैठ: इखम बैठा।
बस: यती बस।

fine: everything is fine at home.
कुशल मंगल: घर मे सब कुशल मंगल है।
राजि-खुसि: घोर [डेरा ] मा/मू सब राजि -खुसि छन
भल: ड्यार म सब भल हेरी।

village: it's beautiful village.
गाँव: ये बहुत सुंदर गाँव है।
गौं: यू भौत सुंदर गौं च।
गाउँ: यू गाउँ भौत भल्ल छ।

say: what did you say?
कहा[कहना]: क्या कहा तुमने[आपने] ?
बोलि/ब्वाल [ब्वालि] : क्या बोलि/ब्वालि तिन [आपण]?
ब्वालनो : क्यॆ ब्वालनो छा तुम[आप]?

welcome: you are welcome.
स्वागत: आपका स्वागत है।
स्वागत: आपक स्वागत च।
स्वागत: आपुक स्वागत छ।

no problem.
कोई बात [समस्या] नही ।
क्वी बात नी च ।
क्वे बात नै ।

You also say something.
आप [तुम] भी कुछ बोलो।
आप [तुम] भी कुछ ब्वाला [ बोली ल्यावा]
आप [तुम] ले क्यै बुआल

you are doing good job.
आप अच्छा कार्य कर रहे है।
आप अच्छु काम कना छन।
आप भल्ल काम करनो छा।

I will also try.
मैं कोशिश करूंगा।
मी कोसिस करलू।
मी कोसिस करूँल।

you visit my page.
आप मेरे पन्ने पर आयें।
आप म्यार पन्ना पर एन।
आप म्यार पन्ना पर आया।

just leaving.
बस निकल रहे है / बस चलने वाले है ।
बस अभी निकलण वॉल छ्वां /बस चलण वॉल [वला] छंवा
बस निकलण व्ल छन /बस जाण (जान्या) व्ल छन।




सहयोग कर्ता [ हिमांशु करगेती, महेंद्र सिन्हा राणा, कौशल उप्रेती  एवं दर्शन सिंह जी ]

उत्तराखंड की भाषा आप ते अपना संस्कृति क दगड़ जुडदी!

1 टिप्पणी:

  1. अत्युत्तम प्रयास ची या ..उत्तराखंडी बोली भाषा का नयी पीदी
    माँ संक्रमण करण की अव्वाश्यकता ची ....अपनी बोली माँ कई शब्द विलुप्त होण की कगार पर छा.....साधुवाद !!!

    उत्तर देंहटाएं

आपक/तुमक बौत बौत धन्यवाद प्रतिक्रिया दीण कुण/लिजी

center> Related Posts Plugin for WordPress, Blogger.../center>