मंगलवार, 17 मई 2011

Day - दिन - बार - वार



आज का विषय : दिन 
[Day - दिन - बार  - वार ]

[इस रूप मे पढे]


अँग्रेजी - हिन्दी - गढ़वाली - कुमाऊँनी 

Sunday, Monday,Tuesday, Wednesday, Thursday, Friday and Saturday
रविवार , सोमवार, मंगलवार, बुधवार, बृहस्पतिवार, शुक्रवार, एवं शनिवार 
इतबार, सोमबार, मंगलबार, बुधबार, भिप्यार, शुक्रबार अर छंचर 
इतवार, सोमवार, मंगलवार, बुधवार, बिपवार, सुक्रवार और छंचर


इस विषय से संबन्धित प्रयोग होने वाले शब्द व उनका प्रयोग



Today: I am very happy today. 
आज: आज मैं बहुत खुश हूँ। 
आज : आज मी बौत खुश छौ ।
आज: आज मी भोते खुस छिउ ।

Yesterday: Yesterday, I was with my friend , and we enjiyed a lot.
कल[बीता]; कल मैं अपने मित्र से मिला और हमने खूब मज़े किए ।
ब्याल : ब्याली मी अपर दग्डया क दगड़ी छ्याइ आर हमन बौत मस्ती केरि। 
बेई: बेई मी अपण दगडी दगड़ छि और हमुल खूब मस्ती करी।

Tomorrow : I will be visiting your home tomorrow.
कल : मैं आपके घर कल आऊँगा। 
भोल/परबात: मी आपक /तुमर घर भोल /परबात ओलू। 
भोऊ/भोल :  मी भोऊ/भोल तुम्हर घर ऊल ।

Day After Tomorrow : He/she will be going to Almora day after tomorrow.
परसो: वह परसो अल्मोड़ा जायेगा/जायेगी।
परस्युं : वू/वा परस्युं अल्मोड़ा जालू /जैली ।
पौरु: ऊ पौरू अल्मोड़ जॉल /जलि।

Morning: Its good for health to walk for 20 minutes in morning.
सुबह : सुबह सुबह २० मिनट चलना सेहत ए लिए फायदेमंद है। 
सुबेर : सेबर लेक २० मिंट चल्णु सेहत कुण अच्छु हून्द। 
रत्ती : रत्ती - रत्ती  २० मिनट चलण सेहत लिजी भोल भये/ हूँ |

Afternoon: I go home in afternoon to have my lunch.
दिन: मैं दिन मे खाना खाने घर जाता हूँ ।
दुफ़रा/दोफरा : मी दुफ़रा  मे घार जांदु खाणा खाण कुण।
दोफ़रि: मी दोफरि  में खंनु खाण लिजी घर जनु।

Evening: Now a days, the weather is pleasent during evening time.
शाम: आजकल शाम को मौसम सुहाना हो जाता है ।
बेखुन[नि] : आजकल बेखुन दाँ मौसम स्वाणू  हव्वे  जांद।
ब्याव: आज्क्ल्याँ ब्याव कबैर मौसम सुहान है जा छू/ हैए जनों।

Night: A sound sleep at night is essential for every person.
रात : रात मे अच्छी नींद लेना प्रत्येक व्यक्ति के लिए जरूरी है। 
राती: राती मा हरेक मनखी ते अच्छी निन्द लीण जरूरी च ।
रात: रात में गैर (गहरी) / भाल नींद लिण हरेके आदिम  लिजी  भोते जरुरी छू ।

- प्रतिबिम्ब बड़थ्वाल 

[ जो भाषा को  जानने वाले है और उन्हे कोई गलती नज़र आती है तो कृपया हमे बताए उनमे सुधार किया जाएगा, क्योकि हम भी प्रयास रत है सीखने में]

9 टिप्‍पणियां:

आपक/तुमक बौत बौत धन्यवाद प्रतिक्रिया दीण कुण/लिजी

center> Related Posts Plugin for WordPress, Blogger.../center>